Chanakya Quotes Hindi and English । सर्वश्रेष्ठ चाणक्य के अनमोल वचन।

0
1966
chanakaya Quotes hindi and english

Chanakya Quotes, Acharya Chanakya, whose diplomacy theory is famous all over the world. Here I shared the words spoken by Acharya with you as Chanakya Quotes. Before reading Chanakya quotas, put a little light on their life.

Chanakya was born in a poor poor family. They also called ‘Kautilya’ because of their fierce and mysterious nature. Chanakya had educated at Takshashila, a great education center at that time. After 14 years of study, at the age of 26, he completed his education of sociology, politics and economics, and he also did teaching work in Nalanda. He was a strong supporter of the monarchy. They are also known as “Maikivali of India”.

Chanakya was also an ambassador of the nation’s integrity. That is why they let the Greek invaders out of India by Chandragupta. And also gave freedom to the people suffering from the atrocities of Nand-dynasty. Acharya Chanakya is considered to be the most prominent patron of Indian history. He has rendered his political doctrines in the book ‘Economics’. Whose importance is still accepted.

Chanakya Quotes

जैसे एक बछड़ा हज़ारो गायों के झुंड मे अपनी माँ के पीछे चलता है। उसी प्रकार आदमी के अच्छे और बुरे कर्म उसके पीछे चलते हैं। 

– आचार्य चाणक्य

Like a calf walks behind its mother in tens of thousands of cows. In the same way man’s good and bad deeds follow him.

– Acharya Chanakya

सबसे बड़ा गुरु मंत्र, अपने राज किसी को भी मत बताओ। ये तुम्हे खत्म कर देगा।

– आचार्य चाणक्य

The biggest guru mantra, do not tell anyone your secret either. This will end you.

– Acharya Chanakya

chanakaya Quotes

एक समझदार आदमी को सारस की तरह होश से काम लेना चाहिए और जगह, वक्त और अपनी योग्यता को समझते हुए अपने कार्य को सिद्ध करना चाहिए।

– आचार्य चाणक्य

A wise man should take heed of cranes and place, time and must prove their work to understand your qualifications.

Acharya Chanakya

पुस्तकें एक मुर्ख आदमी के लिए वैसे ही हैं, जैसे एक अंधे के लिए आइना।

– आचार्य चाणक्य

Books are the way to a foolish man, like a mirror to a blind man.

– Acharya Chanakya

आदमी अपने जन्म से नहीं अपने कर्मों से महान होता है।

– आचार्य चाणक्य

Man is better than his own life, not by his deeds.

– Acharya Chanakya

आग सिर में स्थापित करने पर भी जलाती है। अर्थात दुष्ट व्यक्ति का कितना भी सम्मान कर लें, वह सदा दुःख ही देता है।

– आचार्य चाणक्य

A fire burns even after setting it on fire, that means, respect to the person of the person, he always gives sorrow.

– Acharya Chanakya

जो जिस कार्ये में कुशल हो उसे उसी कार्ये में लगना चाहिए।

– आचार्य चाणक्य

The one who is skilled in the work should be engaged in the same work.

– Acharya Chanakya

किसी विशेष प्रयोजन के लिए ही शत्रु मित्र बनता है।

– आचार्य चाणक्य

For a particular purpose, the enemy becomes a friend.

– Acharya Chanakya

कच्चा पात्र कच्चे पात्र से टकराकर टूट जाता है।

– आचार्य चाणक्य

The raw character breaks into a raw character and breaks it.

– Acharya Chanakya

भाग्य के विपरीत होने पर अच्छा कर्म भी दु:खदायी हो जाता है।

– आचार्य चाणक्य

Good deeds also contribute to grief when contrary to fate.

– Acharya Chanakya

ये मत सोचो की प्यार और लगाव एक ही चीज है। दोनों एक दूसरे के दुश्मन हैं। ये लगाव ही है जो प्यार को खत्म कर देता है।

– आचार्य चाणक्य

Do not think that love and affection are only one thing. Both are enemies of each other. It is an attachment that eliminates love.

– Acharya Chanakya

दौलत, दोस्त ,पत्नी और राज्य दोबारा हासिल किये जा सकते हैं, लेकिन ये शरीर दोबारा हासिल नहीं किया जा सकता।

– आचार्य चाणक्य

Money, friends, wife and kingdom can be regained, but this body can not be regained.

– Acharya Chanakya

जो हमारे दिल में रहता है, वो दूर होके भी पास है। लेकिन जो हमारे दिल में नहीं रहता, वो पास होके भी दूर है।

– आचार्य चाणक्य

The one who lives in our heart is near and away, but whoever does not remain in our heart is also far away.

– Acharya Chanakya

जैसे एक सूखा पेड़ आग लगने पे पुरे जंगल को जला देता है। उसी प्रकार एक दुष्ट पुत्र पुरे परिवार को खत्म कर देता है।

– आचार्य चाणक्य

Just like a dry tree burns the entire forest upon fire, so a wicked son destroys the entire family.

– Acharya Chanakya

एक आदर्श पत्नी वो है जो अपने पति की सुबह माँ की तरह सेवा करे और दिन में एक बहन की तरह प्यार करे और रात में एक वेश्या की तरह खुश करे।

– आचार्य चाणक्य

A perfect wife is one who should serve like a mother in her husband’s day and love as a sister in the day and make her happy like a prostitute in the night.

– Acharya Chanakya

वो जो अपने परिवार से अति लगाव रखता है भय और दुख में जीता है। सभी दुखों का मुख्य कारण लगाव ही है, इसलिए खुश रहने के लिए लगाव का त्याग आवशयक है।

– आचार्य चाणक्य

Those who have a strong attachment to their family, live in fear and misery, the main reason for all the sorrows is attachment, so attachment of attachment is necessary to be happy.

– Acharya Chanakya

शत्रु की दुर्बलता जानने तक उसे अपना मित्र बनाए रखें।

– आचार्य चाणक्य

Keep him as your friend until you know the weakness of the enemy.

– Acharya Chanakya

अन्न के सिवाय कोई दूसरा धन नहीं है।

– आचार्य चाणक्य

There is no other way than food.

– Acharya Chanakya

भूख के समान कोई दूसरा शत्रु नहीं है।

– आचार्य चाणक्य

There is no other enemy like hunger.

– Acharya Chanakya

chanakaya Quotes

सभी प्रकार के भय से बदनामी का भय सबसे बड़ा होता है।

– आचार्य चाणक्य

The fear of slander is by far the biggest fear of all kinds.

– Acharya Chanakya

आलसी का ना वर्तमान होता है, ना भविष्य।

– आचार्य चाणक्य

Lazy is neither present nor future.

– Acharya Chanakya

सत्य भी यदि अनुचित है तो उसे नहीं कहना चाहिए।

– आचार्य चाणक्य

If truth is also inappropriate, then it should not be said.

– Acharya Chanakya

पहले निश्चय करिए, फिर कार्य आरम्भ करें।

– आचार्य चाणक्य

First make sure, then start the work.

– Acharya Chanakya

अर्थ और धर्म, कर्म का आधार है।

– आचार्य चाणक्य

Meaning and religion, the basis of action.

– Acharya Chanakya

शक्तिशाली शत्रु को कमजोर समझकर ही उस पर आक्रमण करें।

– आचार्य चाणक्य

Attack the powerful enemy with weakness.

Acharya Chanakya

अपने से अधिक शक्तिशाली और समान बल वाले से शत्रुता ना करें।

– आचार्य चाणक्य

Do not enmity with someone more powerful and equal to you.

– Acharya Chanakya

जिसकी आत्मा संयमित होती है, वही आत्मविजयी होता है।

– आचार्य चाणक्य

Whose soul is restrained, it is self-centered.

– Acharya Chanakya

मनुष्य की वाणी ही विष और अमृत की खान है।

– आचार्य चाणक्य

The speech of man is the poison and the nectar of mine.

– Acharya Chanakya

कठिन समय के लिए धन की रक्षा करनी चाहिए।

– आचार्य चाणक्य

We must save money for the tough times.

– Acharya Chanakya

जहाँ लक्ष्मी (धन) का निवास होता है, वहाँ सहज ही सुख-सम्पदा आ जुड़ती है।

– आचार्य चाणक्य

Where Lakshmi (wealth) resides, there arises instinctive happiness.

– Acharya Chanakya

chanakaya Quotes

सुख और दुःख में समान रूप से सहायक होना चाहिए।

– आचार्य चाणक्य

Should be equally helpful in happiness and sorrow.

– Acharya Chanakya

अस्थिर मन वाले की सोच स्थिर नहीं रहती।

– आचार्य चाणक्य

The thinking of the unsteady person is not stable.

– Acharya Chanakya

अशुभ कार्यों को नहीं करना चाहिए।

– आचार्य चाणक्य

Inauspicious actions should not be done.

– Acharya Chanakya

मूर्ख लोग कार्यों के मध्य कठिनाई उत्पन्न होने पर दोष ही निकाला करते हैं।

– आचार्य चाणक्य

Fools make mistakes only when problems arise between tasks.

– Acharya Chanakya

दूध पीने के लिए गाय का बछड़ा अपनी माँ के थनों पर प्रहार करता है।

– आचार्य चाणक्य

The cow’s calf strikes his mother’s thun for drinking milk.

– Acharya Chanakya

जिन्हें भाग्य पर विश्वास नहीं होता, उनके कार्य पुरे नहीं होते।

– आचार्य चाणक्य

Those who do not believe in destiny, their work is not enough.

– Acharya Chanakya

जो अपने कर्म को नहीं पहचानता, वह अंधा है।

– आचार्य चाणक्य

He who does not know his deeds is blind.

– Acharya Chanakya

विचार ना करके कार्य करने वाले व्यक्ति को लक्ष्मी त्याग देती है।

– आचार्य चाणक्य

Lakshmi (money) is sacrificed to the person who works without thinking.

– Acharya Chanakya

जो अपने कर्तव्यों से बचते हैं, वे अपने आश्रितों परिजनों का भरण-पोषण नहीं कर पाते।      – आचार्य चाणक्य

Those who avoid their duties, they can not afford their dependents.  – Acharya Chanakya

समय का ज्ञान ना रखने वाले राजा का कर्म समय के द्वारा ही नष्ट हो जाता है।

– आचार्य चाणक्य

The action of the king who does not know the time is destroyed by time.  – Acharya Chanakya

Friends How do you like Chanakya Quotes? Hopefully you guys will like Chanakya Quotes very much. Friends Chanakya said how Chanakya Quotes looked like. Please tell us by commenting

Also Read :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here