Mukesh Ambani Biography In Hindi

0
608
Mukesh Ambani Biography

मुकेश अंबानी ( Mukesh Ambani Biography In Hindi ) एक भारतीय उद्योगपति और रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष तथा प्रबंध निदेशक हैं। मुकेश अंबानी का जन्म 19 अप्रैल 1957 को हुआ। उनके पिता का नाम धीरुभाई अंबानी और माता का नाम कोकिलाबेन अंबानी है। उन्हें एक छोटे भाई अनिल अंबानी और दो बहने दीप्ती सलग ओंकार और नीना कोठारी है। पूरा अंबानी परिवार 1970 तक मुंबई के भुलेश्वर में रह रहा था। इसके साथ-साथ वे दुनिया के सबसे धनी व्यक्तियों में भी शामिल हैं। सन 2012 में फोर्ब्स ने उन्हें ‘दुनिया के सबसे अमीर ‘स्पोर्ट्स ओनर्स’ की सूची में स्थान दिया। वे भारत के प्रतिष्ठित प्रबंधन संस्थान ‘इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट बैंगलोर’ के बोर्ड के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

Mukesh Ambani Biography In Hindi

नाम :मुकेश अंबानी
जन्म :19 अप्रैल 1957 (यमन)
पिता :स्वर्गीय श्री धीरू भाई अम्बानी जी
माता :श्रीमती कोकिलाबेन अम्बानी
पत्नी :श्रीमति नीता अम्बानी जी
भाई - बहन :श्री अनिल अम्बानी जी
दीप्ती सलग ओंकार
नीना कोठारी
बच्चे :1. आकाश अम्बानी
2. अनंत अम्बानी
3. ईशा अम्बानी
राष्ट्रीयता :भारतीय
शिक्षा :हिल ग्रेंज हाई स्कूल, पेडर रोड, मुंबई में स्कूली शिक्षा हुई और
रासायनिक प्रोद्योगिकी संस्थान वन विद्यालय (वलथमस्टोव), स्टैनफोर्ड विश्विधालय
कार्य :रिलायंस इंडस्ट्री के मालिक एवं अध्यक्ष
घर :मुंबई, महाराष्ट्र, भारत

Mukesh Ambani की शिक्षा :

हिल ग्रेंज हाई स्कूल, पेडर रोड, मुंबई में मुकेश अम्बानी की स्कूली शिक्षा पूरी हुई। और फिर कैमिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री उन्होंने UDCT से प्राप्त की है| बाद में मुकेश जी ने MBA करने के लिए स्टैनफोर्ड विश्विधालय ज्वाइन किया और किसी कारण पहले वर्ष के बाद ही उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी।

मुकेश अंबानी जी का व्यवसाय :

सन् 1980 में, इंदिरा गाँधी की भारतीय सरकार ने PFY (Polyester Fiament Yarn) की शुरुआत की। जिसके चलते निजी क्षेत्र विकसित हो सके और तभी धीरू भाई ने लाइसेंस के लिए आवेदन किया। टाटा, बिरला और 43 दूसरी कंपनियों से कड़ी टक्कर के बावजूद वह लाइसेंस धीरू भाई को दिया गया। अपने PFY प्लांट को बढाने में धीरू भाई को किसी और की भी जरूरत लगी। और फिर क्या था पी.एफ.वाई. (पॉलिएस्टर फिलामेंट यार्न) कारखाने के निर्माण के लिए धीरुभाई अम्बानी ने मुकेश को एम.बी.ए. की पढ़ाई बीच में ही बुला लिया। मुकेश अपनी पढ़ाई छोड़ भारत आ गए।और कारखाने के निर्माण में जुट गए। बाद में मुकेश जी ने रिलायंस Poleyester में काम करना बंद कर दिया। और केवल 1981 में रिलायंस पेट्रोरसायन को शुरू किया।

Mukesh Ambani Biography

Leadership By Mukesh Ambani :

मुकेश अम्बानी के नेतृत्व में ही रिलायंस ने भारत के सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनियों में से एक ‘रिलायंस इन्फोकॉम लिमिटेड’ की स्थापना की।अंबानी ने केमिकल टेक्नोलॉजी संस्थान के गवर्नर्स बोर्ड पर कार्य किया है। वह पहले भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के उपाध्यक्ष भी रहे हैं। और वर्तमान में रिलायंस पेट्रोलियम में बोर्ड के अध्यक्ष हैं। वह रिलायंस रिटेल लिमिटेड की लेखा परीक्षा समिति के अध्यक्ष के रूप में भी काम करते है। वह रिलायंस एक्सप्लोरेशन एंड प्रोडक्शन डीएमसीसी के अध्यक्ष हैं। वह गांधीनगर गुजरात में पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय के अध्यक्ष के रूप में भी कार्य करते हैं। मुकेश अंबानी ने आगे बढते गए। और दुनिया का सबसे बड़ा पेट्रोलियम रिफायनरी, जामनगर, भारत में बनाया जो 660000 बैरल प्रति दिन भरने की क्षमता रखता है। जो 2010 में भारत की सबसे ज्यादा प्रचलीत पेट्रोलियम क्षेत्र और पावर जनरेशन के मामले में उच्च स्तर की इंडस्ट्री थी।

दोनों भाई मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी में अलगाव हुआ और अनिल अंबानी को रिलायंस इन्फोकॉम का समूह मिला। मुकेश धीरुभाई अंबानी भारतीय व्यापर के प्रभावशाली व्यक्ति और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के अध्यक्ष, मैनेजिंग डायरेक्टर और सबसे बड़े शेयरहोल्डर है। रिलायंस कंपनी विश्व की 500 सौभाग्यशाली कंपनी में शामिल है। और मार्केट वैल्यू के हिसाब से भारत की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है। वो विश्व की सबसे महँगी संपत्ति एन्टीलीया बिल्डिंग में रहते है। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने एक बार फिर से ‘रिलायंस जिओ’ के माध्यम से दूरसंचार के क्षेत्र में एक नया कदम रखा। मुकेश अंबानी ने आज 4G सेवाएं प्रारंभ कर दी है। जो कि आज की दुनिया में लोगों को आकर्षित कर रही है। इन्ही JIO 4G के बेहतरीन ऑफर के कारण ही आज गाँव से लेकर शेहर तक लोग तेज़ इन्टरनेट का उपयोग कम दामों में कर पा रहे हैं।

Personal Life :

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani Biography ) जी भारत के सबसे बड़े उद्योगपति धीरू भाई अंबानी जी के बेटे है। धीरू भाई अंबानी भारतीय उधमी है। और रिलायंस इंडस्ट्रीज के संस्थापक भी है। मुकेश अंबानी स्वर्गीय धीरूभाई अंबानी और कोकिला बेन अम्बानी के पुत्र हैं। धीरूभाई अंबानी ने ही रिलायंस इंडस्ट्रीज की स्थापना की थी। मुकेश के छोटे भाई अनिल अम्बानी रिलायंस अनिल “धीरूभाई अम्बानी” समूह (ADAG) के प्रमुख हैं। यह समूह दूरसंचार, बिजली, प्राकृतिक संसाधनों, बुनियादी सुविधाओं और वित्तीय सेवाओं के क्षेत्र में सक्रीय है। धीरुभाई अम्बानी के निधन के बाद दोनों भाईयों में नहीं बनी और कहा-सुनी हुयी। जिसके बाद रिलायंस समूह दो भागों में बंट गया। मुकेश अंबानी ने नीता अंबानी से शादी किया हैं। उनकी एक बेटी है – ईशा अंबानी और दो बेटे है – आकाश अंबानी और अनंत अंबानी।

Mukesh Ambani Biography

वे वर्तमान में एंटीलिया (भवन) में रह रहे हैं। जो कि 27 मंजिला ईमारत हैं। घर की कीमत एक अरब डॉलर है। और इसीलिये इसे दुनिया का सबसे महंगा घर कहा जाता है। एंटीलिया दक्षिण मुंबई, भारत में एक निजी घर है। इसका स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ( Mukesh Ambani Biography In Hindi ) के पास है। और दिन में 24 घंटे इस निवास की देखरेख के लिए 600 कर्मचारी हैं।

सम्मान और पुरस्कार :

  • मई 2004 में एशिया सोसाइटी, वॉशिंगटन डी सी द्वारा उन्हें एशिया सोसाइटी लीडरशिप अवार्ड प्रदान किया गया।
  • अक्टूबर 2004 में टोटल टेलिकॉम ने दूरसंचार के क्षेत्र में  वर्ल्ड कम्युनिकेशन अवार्ड दिया
  • नवम्बर 2004 में प्राईस वाटर हाउस कूपर्स द्वारा कराये गए।
  • फाइनेंशियल टाइम्स लन्दन में प्रकाशित सर्वे में मुकेश अम्बानी को चार सीईओ में दूसरा स्थान मिला
  • वौइस् एंड डाटा पत्रिका ने सितम्बर 2004 में उन्हें ‘टेलिकॉम मैंन ऑफ़ द ईयर’ चुना।
  • मुकेश अम्बानी को NDTV द्वारा साल 2007 का ‘बिज़नसमैंन ऑफ़ द ईयर चुना गया।
  • यूनाईटेड स्टेटस-इंडिया बिज़नस कौंसिल (USIBC) ने वाशिंगटन में मुकेश अम्बानी को 2007 में “ग्लोबल विज़न” लीडरशिप अवार्ड दिया।
  • नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उनके हाथों से ” चित्रलेखा पर्सन ऑफ़ द ईयर 2007 ” पुरस्कार प्राप्त किया।
  • यूनाईटेड स्टेटस-इंडिया बिज़नस कौंसिल ने वाशिंगटन में मुकेश अम्बानी को 2007 में “ग्लोबल विज़न” लीडरशिप अवार्ड दिया।
  • महाराजा सयाजीराव विश्वविधालय द्वारा साल 2010 में ” मानद डारेक्टर ” की उपाधि।
  • अंतर्राष्ट्रीय व्यापार परिषद् द्वारा साल 2010 में ग्लोबल लीडरशिप अवार्ड मिला।
  • दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगो के फोर्ब्स सूचि में साल 2014 में 36 वां स्थान मिला।

इन्हें भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here