Narendra modi biography | नरेंद्र मोदी जी का जीवन परिचय।

1
1170
Narendra modi biography

Narendra modi biography, हमारे देश के वर्तमान प्रधानमंत्री ( 2014 से ) माननीय नरेंद्र मोदी जी ने जो देश में असंख्य परिवर्तन लाये है, जो की आने वाली पीढ़ी को बहुत ज्यादा प्रभावित करेगी। और कई वर्षों तक चर्चा का विषय भी बना रहेगा। मोदी जी वो पहले प्रधानमंत्री है जिन्होंने भारत की काया पलट दी है। आज से 5  साल पहले की बात करें तो भारत का दृश्य कैसा था और अब साल 2019 में कैसा है। आप अनुमान लगा सकते है की मोदी जी के सत्ता में आने से भारत का दृश्य किस प्रकार से बदला है।

नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री बनने से पहले गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यरत थे और उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में  गुजरात मॉडल प्रस्तुत किया, और जिससे पुरे देश के जनता की उम्मीदे नरेंद्र मोदी जी से बढ़ने लगी। नरेंद्र मोदी जी बहुत ही विनम्र स्वभाव के व्यक्ति है। मोदी जी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सदस्य हैं। वे बहुत ही मेहनती और कर्तव्यनिष्ठ है। पिछले कुछ ही वर्षो में मोदी जी एक महान लीडर के रूप में उभरकर सामने आये है। 

Narendra modi biography

Narendra modi biography

1.पूरा नामनरेंद्र दामोदरदास मोदी
2.जन्मग्राम - वडनगर , जिला - महेसाना , बॉम्बे स्टेट , जोधपुर, भारत
3.धर्महिंदू
4.पितादामोदरदास मूलचंद मोदी
5.माताहीराबेन
6.भाई -बहनसोमा: एक सेवानिवृत्त स्वास्थ्य अधिकारी हैं। अब अहमदाबाद में एक वृद्धाश्रम चलाते हैं।

प्रहलाद: अहमदाबाद में एक उचित मूल्य की दुकान चलाते हैं। वह निष्पक्ष-मूल्य वाले दुकान मालिकों के हितों के लिए संघर्ष भी करते हैं।

पंकज मोदी: सूचना विभाग, गांधीनगर में काम करते हैं।

वासंती (बहन)
7.निवास स्थानगांधीनगर, गुजरात
8.विवाहमोदी के विवाह का मुद्दा मामूली विवाद था। बाद में पता चला कि उनकी बचपन में शादी हो गई थी, लेकिन बाद में एकसाथ रहने से इनकार करके, संघ में शामिल हो गए।
9.किशोरावस्थामोदी अपनी किशोरावस्था में और उनके भाई एक चाय की दुकान चलाते थे।
10.शिक्षाउनका विद्यालय वडनगर में था। उनके शिक्षकों के अनुसार, वह एक औसत-दर्जे के छात्र थे, लेकिन उनको वाद-विवाद में बहुत रुचि थी।
11.स्नातकगुजरात विश्वविद्यालय
12.कार्यगुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री। 26 मई 2014 के बाद से वर्तमान में भारत के प्रधानमंत्री हैं।
13.राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस)मोदी की छवि एक कट्टर आरएसएस समर्थक और हिंदू राष्ट्रवादी की है। उन्होंने भारत और विदेश दोनों के बीच नए रिस्तों को जन्म दिया है।
14.राजनीति की शुरुआतनागपुर में आरएसएस प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद मोदी ने गुजरात में आरएसएस के अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) का पदभार संभाला।
15.राजनीतिक पार्टीभारतीय जनता पार्टी
16.निर्वाचन क्षेत्रमणिनगर
17.भाजपा के महासचिवउसके तुरंत बाद, मोदी को भाजपा का महासचिव बनाया गया और हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में पार्टी की गतिविधियों की देख रेख शुरू की। उनके काम से उन चुनावों में पार्टी की जीत हुई।
18.भाजपा के राष्ट्रीय सचिववर्ष 1998 में, मोदी भाजपा के राष्ट्रीय सचिव बने।
19.गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में प्रथम कार्यकाल (वर्ष 2001-02)मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में केशु भाई पटेल की जगह ली, क्योंकि उत्तराखंड भ्रष्टाचार और गरीब प्रशासन की समस्याओं से निजात पाने के लिए संघर्ष कर रहा था। उस समय मोदी में अनुभव की कमी होने के कारण, लालकृष्ण आडवाणी उनसे बहुत आश्वस्त नहीं थे। 7 अक्टूबर 2001 को मोदी को गुजरात के मुख्यमंत्री पद पर नियुक्त किया गया और दिसंबर 2002 में चुनावों के लिए भाजपा को तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। हालांकि, मोदी ने, आरएसएस से जुड़े होने के कारण निजीकरण और व्यापार में न्यूनतम हस्तक्षेप पर ध्यान केंद्रित करते हुए, बहुत अच्छा काम किया।
20.गुजरात हिंसा (वर्ष 2002)एक ट्रेन पर 58 हिंदू तीर्थ यात्रियों की हत्या के बाद राज्य में गोधरा दंगों का पता चला। सांप्रदायिक हिंसा की वजह से करीब 1,000-2,000 मुस्लिम मारे गए थे। जवाब में, मोदी सरकार ने राज्य में कर्फ्यू लगावाया, गोलीबारी की व्यवस्था के आदेश जारी किए और सेना को तैनात किया। मोदी सरकार पर ऐसे आरोप थे कि उन्होंने हिंसा को उकसाया था, लेकिन विशेष जाँच दल (एसआईटी) को ऐसा कोई ठोस सबूत नहीं मिला। हालांकि, 7 मई 2002 को, इस मामले के लिए सुप्रीम कोर्ट के सलाहकार राजू रामचंद्रन ने एक विपरीत विचार दिया और कहा कि मोदी पर मुकदमा किया जा सकता है। इस मुद्दे पर राष्ट्रीय स्तर पर बहस चली, जिसमें विपक्षी दल ने मोदी के इस्तीफे की माँग की।
21.वर्ष 2002 के चुनावों में मोदी की जीतचुनावों में तुरंत मोदी ने एक मजबूत विरोधी मुस्लिम रुख अपनाया और 182 सीटों में से 127 को जीतने में कामयाब रहे।
22.गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में दूसरा कार्यकाल (2002-07)मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान हिंदुत्व को अपनाते हुए पूरी तरह से आर्थिक विस्तार करने के लिए अपना ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) की तरह जैसा कि गुजरात में देखा गया था प्रतिक्रियावादी संगठनों पर शासन किया, क्योंकि गुजरात की अर्थव्यवस्था में निवेश बढ़ गया था। इसका एक संकेतक वर्ष 2007 सांप्रदायिक हिंसा सम्मेलन था, जिसमें उन्होंने अगुवाई करते हुए 6,600 अरब रुपये की कीमत वाली जमीन पर हस्ताक्षर किए। हालांकि, उन्होंने खुद को पार्टी में तेजी से विमुख कर लिया और यहाँ तक कि अटल बिहारी वाजपेयी ने भी मोदी से खुद को दूर कर लिया था। मीडिया में आलोचना भी बहुत हुई, साथ ही मोदी की समानता एडॉल्फ हिटलर से की गई।
23.वर्ष 2007-08 चुनावजल की परेशानी के बावजूद भी मोदी ने वर्ष 2007 के चुनाव में 182 सीटों में से 122 सीटों पर जीत हासिल की।
24.गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में तीसरा कार्यकाल (2007-12)अपने तीसरे कार्यकाल के दौरान, मोदी ने गुजरात के कृषि उद्योग को बदलना शुरू किया, भूजल ततनीकि को बेहतर बनाने के लिए सफल परियोजना शुरू की। इस समय के दौरान, लगभग 1,13,738 निर्माण-कार्य किए गए थे। परिणामस्वरूप राज्य में कपास के उत्पादन में बढ़ोत्तरी हुई, जिससे अर्थव्यवस्था में भी तेजी से वृद्धि हुई और 10.97 प्रतिशत की उच्च चक्रवृद्धि वार्षिक दर दर्ज की गई।
25.सद्भावना मिशन और अनाहारमोदी ने अपने सद्भावना मिशन या गुडविल मिशन के जरिए सांस्कृतिक संबंधों में सुधार और राज्य में शांति को बढ़ावा देने के लिए कई उपवास भी किए। हालांकि, इसका किसी पर ज्यादा प्रभाव नहीं हुआ था।
26.सामाजिक मीडिया की स्वीकृतिमोदी भारत में सबसे अधिक नेट-प्रेमी राजनीतिक नेता हैं। वह ट्वीटर और गूगल प्लस हैंगआउट का प्रभावी रूप से उपयोग करते हैं।
27.गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में चौथा कार्यकाल (वर्ष 2012)वर्ष 2012 के चुनावों में कोई भी आश्चर्यचकित नहीं हुआ, क्योंकि भाजपा ने एक बार फिर से विधानसभा की 182 सीटों में से 115 पर जीत दर्ज की थी।
28.राष्ट्रीय राजनीति में भूमिकावर्ष 2013 मोदी के लिए बेहद उपयोगी साबित हुआ, क्योंकि उन्होंने केंद्र स्तर पर खुद को पेश किया था। भाजपा ने प्रधानमंत्री की स्थिति के लिए मोदी को, भाजपा के केंद्रीय चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष चुना।
29.प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवारभाजपा ने पार्टी के ध्रुवीकरण के एक फैसले में, मोदी की बढ़ती लोकप्रियता के कारण उन्हें चुनने का फैसला किया और वर्ष 2014 के चुनाव में उन्हें प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में चुना। भाजपा ने सितंबर 2013 में, वर्ष 2014 में होने वाले लोकसभा चुनाव में मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया।
30.भारत के प्रधानमंत्री के रूप मेंभाजपा वर्ष 2014 के आम चुनावों में भारी जनादेश के साथ विजयी हुई। 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी ने भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली।
31.पुरस्कार और मान्यतागुजरात रत्न, श्री पूना गुजराती बंधु समाज द्वारा प्रदान किया गया।

भारतीय सोसाइटी ऑफ इंडिया द्वारा ई-रत्न पुरस्कार से सम्मानित।

वर्ष 2006 की इंचिया टुडे सर्वे के अनुसार, सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री।

एफडीआई पत्रिका द्वारा वर्ष 2009 के लिए पर्सनाल्टी ऑफ द ईयर अवार्ड (एशिया) से सम्मानित।

मार्च 2012 में टाइममेगाजीन (एशिया) के कवर पर प्रदर्शित।

Narendra Modi’s Personal Life : 

अपने मातापिता की कुल : सन्तानों में तीसरे पुत्र नरेन्द्र ने बचपन में रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने में अपने पिता का भी हाथ बँटाया। बड़नगर के ही एक स्कूल मास्टर के अनुसार नरेन्द्र हालाँकि एक औसत दर्ज़े का छात्र था, लेकिन वादविवाद और नाटक प्रतियोगिताओं में उसकी बेहद रुचि थी।इसके अलावा उसकी रुचि राजनीतिक विषयों पर नयीनयी परियोजनाएँ प्रारम्भ करने की भी थी। वह बचपन से ही स्वामी विवेकानंद के विचारों को अपना आदर्श मानते थे| और उन्हें बचपन से ही पढ़ने का बहुत शोक था| कुछ पारिवारिक समस्याओ के कारण 1967 में 17 वर्ष की आयु में घर छोड़ दिया. वह घर छोड़ने के बाद कई आश्रम और मठो में अपना जीवन व्यतीत करने लगे| इन्ही दिनों में इन्होने बहुत दुनिया देख ली थी बहुत सोच विचार के बाद ये दो वर्ष बाद वापस घर गये.



Narendra modi biography

Narendra modi biography

नरेन्द्र मोदी जी ने 8 साल की अल्पायु में RSS के स्थानीय शाखाओ में प्रशिक्षण हेतु उपस्थित रहना शुरू किया. और वहा उनकी मुलाकात लक्ष्मणराव इनामदार से हुई, जो वकील साहेब के नाम से भी जाने जाते थे, जिन्होंने मोदी को RSS का बालस्वयमसेवक भी नियुक्त किया, और वे नरेन्द्र मोदी के राजकीय सलाहकार भी बने.जब मोदी RSS में अपना प्रशिक्षण ले रहे थे तब वे वसंत गजेंद्रगडकर और नाथालाल जघदा, भारतीय जन संघ के नेताओ से भी मिले जो बाद में गुजरात में 1980 में बीजेपी के सदस्य बने.

गुजरात के मुख्यमन्त्री के रूप में :

केशु भाई की तबीयत कुछ ख़राब होने लगी थी और भाजपा चुनाव में कई सीटें हार चुकी थी जिसके कारण मोदी जी को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुख्यमंत्री के उम्मीदवार बनाया. हालाँकि मोदी जी चाहते थे की गुजरात की पूरी जिम्मेदारी उन्हीं को मिले जिसके कारण पटेल के उप मुख्यमंत्री बनने के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था और अटल बिहारी बाजपेयी और लालकृष्ण अडवाणी से कहा की –” अगर मुझे मुख्यमंत्री बनाना है तो अकेले का बनाओ जिस कारण 03 अक्टूबर 2001 को यह मुख्यमंत्री बने और 2002 में होने वाले चुनाव की पूरी जिम्मेदारी उन्हें पर थी. “

CM Of Gujrat :

सन् 2001-2002 07 अक्टूबर 2001 को मुख्यमंत्री कार्यकाल का पहला दिन शुरू था। और इसके बाद मोदी जी ने राजकोट चुनाव लड़ा और कोंग्रेस पार्टी के अश्विन मेहता को 14728 मतों से हारना पड़ा। नरेंद्र मोदी जी वैसे तो अपने कर्मशील व्यव्हार के लिए जाने जाते हैं। और उन्होंने गुजरात में भी कई हिंदु मंदिरों को तुडवाने में कोई हस्तक्षेप नहीं किया। क्यूंकि वो मंदिर क़ानूनी कायदे से दूर थे। इस हरकत से उन्हें विश्व हिन्दू परिषद जैसे संघटनो से भला बुरा सुनने को मिला। उन्हें कुर्ता पजामा पहनना बहुत अच्छा लगता है पर कभी-कभी सूट भी पहन लेते हैं। वैसे उनकी मात्रभाषा गुजराती है पर वे हिंदी और अंग्रेजी भाषा भी बोल लेते हैं। मोदी जी की देख रेख में 2012 में हुए गुजरात विधान सभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने बहुमत प्राप्त किया और भाजपा को इस बार 115 सीटें मिली।

Narendra modi biography

Narendra modi biography

Narendra Modi Gujrat project :

  1. पंचामृत योजना: राज्य के एक जुट विकास की योजना |
  2. सुजलाम सुफलाम: राज्य में जलस्रोतों का उचित व् बिना बर्बाद किये उपयोग, जिससे जल बर्बाद न हो
  3. कृषि महोत्सव: उपजाऊ भूमि के लिए शोध प्रयोगशालाएं |
  4. चिरंजीवी योजना: जन्म लेने वाले बच्चे की मृत्युदर में कमी लाने के लिए |
  5. माँ वंदना: जच्चा –बच्चा के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए |
  6. बेटी बचाओ: भ्रूणहत्या व् लिंगानुपात पर अंकुश हेतु |
  7. ज्योतिग्राम योजना: प्रत्येक गाँव में बिजली पहुँचाने के लिए |
  8. कर्मयोगी अभियान: सरकारी कर्मचारियों में अपने कर्तव्य के प्रति निष्ठा जगाने के लिए |

मोदी ने आदिवासियों के लिए विकास किये :

  • पांच लाख लोगों के परिवार को रोजगार|
  • ऊँचे स्तर पर शिक्षा की गुणवत्ता
  • आर्थिक विकास
  • स्वास्थ्य
  • आवास
  • साफ स्वच्छ पिने का जल
  • सिंचाई
  • सब जगह बिजली
  • प्रत्येक मौसम में सड़क मार्ग की उपलब्धता
  • शहरी विकास |

आमलोगों से जुड़ने की पहल :

मन की बात नामक कार्यकर्म से लोगों तक अपनी बातों को पहुचाना और लोगों की बातों को जानना उन्हें अपने द्वारा चलाई गयी योजनाओं से जुड़ने के लिए प्रेरित करना.

Achievements of Narendra Modi :

  • भारतीय लोकतांत्रिक चुनावों में अभूतपूर्व जीत का उल्लेख किया।
  • मोदी अपनी पार्टी के लिए भारी संख्या में वोट पाने में सक्षम थे।
  • अपनी पार्टी के लिए एक पूर्ण बहुमत हासिल करने में सक्षम थे।
  • मोदी सभी बाधाओं को दूर करने में और एक  राष्ट्र को स्थापित करने में सक्षम थे।
  • प्रौद्योगिकी और सोशल मीडिया नेटवर्किंग साइट का उपयोग जिस प्रकार मोदी ने किया वैसे पहले कभी नहीं हुआ था।
  • मोदी आसानी से समाज के विभिन्न पार अनुभाग से कनेक्ट करने में सक्षम थे।
  • उनके भाषण देने के कौशल, उनके सिद्ध ट्रैक रिकॉर्ड, उनके कभी ना नहीं कहने के तरीके और उनके ‘आम आदमी’ छवि, जाति, पंथ, धर्म और वित्तीय पृष्ठ भूमि से प्रभावित होकर मतदाता उनके लिए वोट देते हैं।वह सभी बाधाओं ,धार्मिक, क्षेत्रीय या राज्य होने और खुद को एक ऐसे आदमी के रूप में स्थापित करने में सक्षम थे, जो सपने देखने की हिम्मत करता है और जो उन सपनों को पूरा करने के लिए काम करता है।

Narendra Modi Interview :

  • इंटरव्यू में जब भी पूछा गया कि वह अपनी सफलता का श्रेय कि से देंगे,उन्होंने बार-बार अपनी कड़ी मेहनत के साथ अपने आशावाद और सकारात्मक दृष्टिकोण का उल्लेख किया। वह अक्सर पानी से भरा आधा ग्लास दिखाकर उसका सकारात्मक दृष्टिकोण पेश करते है और हर किसी को आश्वस्त करते हैं, कि उनके लिए, यह हमेशा कगार से भरा लगता है जबकि कांच के नीचे आधा पानी से भरा हुआ है, वह सभी को आश्वासन देता है, कि आधा भाग हवा से भर जाता है यह केवल धारणा का मामला है।
  • उनका दृढ़ विश्वास इतना ताकतवर है कि वह एक ताजा सकारात्मक बदलाव का प्रतीक बन गये जो कि भारत अब तक भ्रष्टाचार से दूर की राजनीति की तलाश कर रहा था। एक समय में, जब लोग देश में कामकाज और घटनाओं से पूरी तरह निराश हो रहे थे, तो वह आशा के चेहरे के रूप में सामने आये जो राष्ट्र को शानदार रास्ते के जरिए संचालित कर सकते है।
  • शायद यह उनकी आशावाद और सकारात्मक ऊर्जा है, जो सारा देश नरेंद्र मोदी को भारत के प्रधान मंत्री के रूप में देखता है। 

दोस्तों , आपको यह Narendra Modi Biography कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताये। और नरेंद्र मोदी जी इस Biography को अपने दोस्तों के साथ facebook, whatsapp, twitter पर जरूर शेयर करें।

इन्हें भी पढ़े :

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here