Warren Buffett Biography In Hindi शेयर बाजार के जादूगर

0
833
Warren Buffett Biography

वॉरेन बफेट ( Warren Buffett Biography In Hindi ) जिसे लोग शेयर बाजार के जादूगर के नाम से जानते है। दुनिया के सबसे आमिर व्यक्तियों में से एक वारेन बफे, जिसे बिल गेट्स अपना प्रेरक मानते है। वॉरेन बफेट जो इस दुनिया के सबसे बड़े निवेशक है। अरबो डॉलर होने के बावजूद जिसकी ईमानदारी की मिसाले दी जाती है। वारेन बफे को वॉल स्ट्रीट का जादूगर और बर्क़शायर हैथवे (Berkshire Hathaway) का बादशाह इस नाम से भी जाना जाता है। आइये उनके जीवन के बारे में जाने की किस तरह से एक साधारण परिवार में जन्मा, अरबों डॉलर का मालिक हैं। 2008 में यह दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन चुके थे।

Warren Buffett Biography In Hindi

1.पूरा नामवॉरेन बफेट ( ऑरेकल ऑफ ओमाहा )
2.जन्‍म तिथि30 अगस्‍त 1930
3.जन्‍म स्‍थानओमाहा, नेब्रास्का, अमेरिका
4.पिताहावर्ड बफेट
5.मातालीला स्‍टॉल
6.पत्‍नीसुसान थॉम्‍पसन, एस्ट्रिड मेंक्‍स
7.बच्‍चे1. एलिस हावर्ड
2. पीटर
3. सुसी
8.कार्यनिवेशक

Warren Buffett का शुरुवाती जीवन :

वारेन बफेट का जन्म ओमाहा, नेब्रास्का में अगस्त 30, 1930 को हुआ। उनके माता-पिता का नाम हावर्ड (Howard) और लीला (स्टाल) था। उनके पिता हावर्ड एक शेयर दलाल थे। एक स्थानीय शेयर दलाल का बेटा होने के कारण उनका शेयर बाज़ार से कम उम्र में ही सामना हो गया। उसके बाद उनकी मुलाकात बेंजामिन ग्राहम हुई। Benjamin Graham , उनके एक प्रभावशाली परामर्शदाता थे। 20 साल उम्र मैं बफेट नें हार्वर्ड बिजनेस स्कूल में प्रवेश के लिए आवेदन किया था, लेकिन उसे ठुकरा दिया गया था। फिर Warren Buffett नें कोलंबिया बिजनेस स्कूल (Columbia Business School) में दाखिला लिया क्योंकि उन्हें पता था की बेंजामिन ग्राहम (Benjamin Graham) और डेविड डोड (David Dodd), दो जाने-माने प्रतिभूति विश्लेषक (securities analyst), वहीं पढ़ते हैं।

Warren Buffett Biography



उन्ही गुरु से बफेट नें शेयर बाजार मैं निवेश करने के गुण सिखे। वारेन (Warren Buffett Biography ) को बचपन से ही बिजनेस का शौक था। वह शुरू से ही अपना जेब खर्च खुद काम करके निकाल लेते थे। इसके लिए वह अखबार बाटे, गोल्फ बाल और स्टाम्प बेचने का काम किया करते थे।

वॉरेन बफे के बिजनेस की शुरुआत :

वारेन जब 10 साल के थे। तो न्यूयार्क स्टोक एक्सचेंज की ट्रिप पर गए थे। 11 साल की उम्र में उन्होंने Cities Service के तीन शेयर अपने लिए खरीदे और तीन अपनी बहन के लिए खरीदी थी। वारेन ने 13 साल की उम्र में सन 1943 में अपना पहला इन्‍कम टैक्‍स रिटर्न भरा था। वारेन ने 15 साल की उम्र में एक अपने दोस्त के साथ मिलकर नाइ की दुकान में पिनबाल लगाकर अच्छी कमाई की थी। बाद में उन्होंने यह कारोबार 1200 डौलर में एक वृद्ध सैनिक को बेच दिया। 15 वर्ष के उम्र में वारेन अखबार बाट कर 175 डौलर प्रति माह कमा लेते थे। जब वह हाई स्कूल में थे तो अपने पिता के कारोबार में निवेश कर एक 40 एकड़ का फार्म खरीदा था। वारेन को बेंजामिन ग्राहम के साथ काम करने की बहुत इच्छा थी। लेकिन ग्राहम ने ये प्रस्तव ठुकरा दिया था।

Warren Buffett Biography

वारेन लगातार कोशिस करते रहे आखिर कार ग्राहम ने उनको अपनी कंपनी में 12000 के सालाना वेतन पर नौकरी का प्रस्ताव दे दिया। उसके दो साल बाद वारेन ने buffett partrnarship ltd नाम की एक निवेश फॉर्म बनाई जिसमे कुल 8 साझेदार थे।वारेन ने 1962 में एक टेक्सटाइल कंपनी Berkshire Hathaway में हिसेदारी खरीदनी शुरू कर दी। उन्हीने 49 फीसदी शेयर खरीद लिए थे। वारेन ने बहुत सारी कंपनियों में निवेश करना शुरू कर दिया था। 1962 में वारेन करोड़पति बन चुके थे। वारेन को शेयर मार्केट में जबरदस्त पकड़ बन चुकी थी। वह जिस कंपनी के शेयर में दिलचस्पी दिखाते उस कंपनी के शेयर में 10 फीसदी का उछाल आ जाते थे।

वॉरेन बफे का निजी जीवन :

वारेन बफेट नें 1952 में सुसान थोम्प्सन (Susan Thompson) से शादी कर ली। उनके तीन बच्चे हुए, सुसी, हॉवर्ड और पीटर। उसके बाद उनके शादीशुदा रिश्तो में खटास आने लगी। साल 1977 से उन्होनें अलग अलग रहना शुरू कर दिया था। पर वे एक दूसरे को तलाक नहीं दिए थे। जुलाई 2004 में सुसान थोम्प्सन कि मौत तक वो शादी शुदा ही बने रहे। उनकी पुत्री सुसी ओमाहा में रहती हैं। और अपने सुसान बफेट संस्था के द्वारा धर्मार्थ कार्य करती हैं। अपनी पत्नी के गुजर जाने के बाद उन्होंने ऐस्ट्रिड मेंक्स से शादी कर ली।

दिलचस्प बात ये हैं कि उन दोनों कि मुलाकात सुसान बफेट नें ही करवाई थी। वॉरेन बफेट को ब्रिज खेलने का बहुत शौक है। और इसके लिए वे बिल गेट्स और पॉल एलन को अपना साथी बनाते थे। वॉरेन बफेट ( Warren Buffett Biography In Hindi ) ने दुनिया को सिखाया कि आखिर में यह महत्‍वपूर्ण नहीं होता है कि आपने कितना ज्‍यादा पैसा कमाया। इंर्पोटेंट यह होता है कि आपने उसे निवेशित कैसे किया।सबसे बड़ी बात ये हैं ,कि बफे ने अपनी कुल संपति का लगभग 85% हिस्सा, Bill Gates की Bill & Melinda Gates Foundation को दान मैं देकर इतिहास रच दिया।

वॉरेन बफे द्वारा कहे महत्वपूर्ण कथन :

  • खर्च करने के बाद जो बचे उसे सेव न करे लेकिन सेव करने के बाद जो बचा उसे खर्च अवश्य करे।
  • यदि आप इंसानियत के 1% लकी लोगो में भी शामिल हो, तो आप 99% लोगो को इंसानियत सिखा सकते हो।
  • यदि आपको जिसकी जरुरत नही है वो चीज़े आप खरीद रहे हो।
  • तो एक दिन आपको जिन चीजो की जरुरत है उस चीजो को बेचना पड़ेगा।
  • अकेली आय पर निर्भर न रहे, आय का दूसरा साधन बनाने के लिये निवेश करे।
  • कभी भी अपने सारे अन्डो को एक ही बास्केट में न डाले।
  • कभी भी नदी की गहराई को दो पैरो से नही नापना चाहिये।
  • इमानदारी सबसे महंगा तोहफा है, छोटे लोगो से इसकी उम्मीद ना करे।
  • जब मौके आते है तभी आप कोई काम करते हो।
  • मेरे जीवन में ऐसा एक पल भी आया था जब मेरे पास उपायों का गठरा पड़ा था।
  • लेकिन यदि मुझे अगले हफ्ते कोई उपाय आता है।
  • तो ही मै कुछ कर पाउँगा अन्यथा मै कुछ नही कर पाउँगा।

Read this :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here